कितनी मोहब्बत है तुझसे

कितनी मोहब्बत है तुझसे कैसे तुझे बताए आसमाँ को रंग दे या ज़मीन को हम सजाये के आते हैं तारे भी करने तेरा दीदार जाने किस किस की नज़रों से तुझे हम बचाए

Read more

कभी वो देखें मुझे, कभी नज़रें चुराती है।

कभी वो देखें मुझे, कभी नज़रें चुराती है। आंखों से प्यार करे, लबों से झुठलाती है। अल्फ़ाज की कमज़ोर वो, दिल की नहीं बोल पाती है। अंदाज़ उसका मस्तमौला, पर मुझसे शर्माती है। कभी वो देखें मुझे, कभी नज़रें चुराती है।

Read more

तेरा दिया दर्द

तेरा दिया दर्द ही तो जिंदा होने का एहसास दिलाता है, वरना इस इश्क़ ने रूह तक को निचोड़ दिया था।

Read more

एक पल को लगा तू मेरा

एक पल को लगा तू मेरा, दूजे ही पल जुदा हो गया, भर्म कहूं या कहूं बदकिस्मती, या रुसवा मेरा ख़ुदा हो गया।

Read more

क्या मैं आगे बड़ गया हूं?

अब ये दूरी दर्द नहीं देती, अब तेरी खामोशी चुभती नहीं है, तेरे बारे में सोच अब मैं तड़पता नहीं, क्या मैं आगे बड़ गया हूं? गाने अब महज गाने है,तेरा कोई ख्याल नहीं। तुमसे मोहब्बत थी ज़वाब है मेरा,ये कोई सवाल नहीं। उभर गया तेरे दिए जख्मों से,अब हाल मेरा बेहाल नहीं हां शायद…

Read more

बड़ा अजीब रिश्ता है

बड़ा अजीब रिश्ता है, तुझे मेरे होने का एहसास तक नहीं है, और मै तेरे ख़िलाफ़ उठे अल्फ़ाजो को भी जला रहा हूं।

Read more

कोशिश तो थी

कोशिश तो बहुत थी तुझसे दूर जाने की, मगर तेरी एक मुस्कुराहट देख ये दिल वापस खींच लाया|

Read more

चाहकर ना चाहने

चाहकर ना चाहने का हुनर रखता हूं, खुद से भले अंजान रहूं,पर तेरी खबर रखता हूं।

Read more